Sports

ICC ने लागू किये क्रिकेट में ये नए नियम | New ICC Rules for Cricket 2019 you need to know in Hindi

ICC ने लागू किये क्रिकेट में ये नए नियम | New ICC Rules for Cricket 2019 you need to know in Hindi

हाल ही मैं ICC ने क्रिकेट के कुछ नियमों में बदलाव किया है| नियमों में बदलाव करने का मुख्य कारण गेंदबाज़ और बल्लेबाज़ के बीच में समानता लाना है| नए नियम इस प्रकार हैं:

ICC क्रिकेट के नए नियम | ICC new Rules in hindi

  • अतिरिक्त खिलाड़ी: प्रत्येक टीम 1 टेस्ट मैच में 6 सब्स्टीट्यूट (Substitute Player) का नाम दे सकती है जो पहले 4 थी|
  • बल्ले की लम्बाई चौढ़ाई: क्रिकेट के बल्ले की अनुमति चौड़ाई और लंबाई में कोई बदलाव नहीं है, लेकिन किनारे की मोटाई 40 मिमी से अधिक नहीं हो सकती है, और बल्ले की मोटाई किसी भी बिंदु पर 67 मिमी से अधिक नहीं होनी चाहिए। अंपायरों को यह जांच करने के लिए एक गेज दिया होगा जिस से वो बैट को नए नियमों के अनुसार चेक करेंगे|
  • अंतराल का नया नियम: टेस्ट क्रिकेट में, यदि अंतराल के तीन मिनट के भीतर एक विकेट गिर जाता है तो एक अंतराल ली जाएगी। पहले यह दो मिनट था।
  • ओवर लिमिट हुई चेंज: टी -20 अंतरराष्ट्रीय में, यदि कोई पारी 10 ओवर से कम हो जाती है, तो प्रत्येक बॉलर के अधिकतम ओवर कोटा दो से कम नहीं होगा: इसका अर्थ है कि यदि मैच पांच ओवरों तक कम हो जाता है, तो दो गेंदबाजों को दो- दो ओवर अवश्य करने होंगे|
  • चोके का नियम बदला: सीमारेखा के लिए, गेंद के साथ अपना पहला संपर्क बनाने वाले हवाई फील्डर को सीमा के अंदर से जाना होगा, अन्यथा चौका दिया जायेगा। चौका तब भी दिया जायेगा यदि गेंद के संपर्क में फ़ील्डर सीमा से परे किसी भी वस्तु के साथ संपर्क करता है, जिसमें दूसरे फील्डर भी शामिल है।
  • दो बाउंस पर नो बॉल: अगर गेंदबाज द्वारा की जाने वाली गेंद बल्लेबाज़ की पॉपिंग क्रीज तक पहुँचने से पहले एक से अधिक बार बाउंस करती है, तो उसे नो बॉल कहा जाएगा। इससे पहले एक गेंद को दो बार बाउंस करने की इजाजत थी। यदि गेंद पिच से बहार जाती है, तो अंपायर एक नो-बॉल का संकेत देगा यदि कोई फील्डर बल्लेबाज तक पहुंचने से पहले डिलीवरी को रोकता है, तो अंपायर नो बॉल देने के साथ साथ डेड बॉल भी देगा|
  • नो बॉल का नियम बदला: नो बॉल से कोई बाय या लेग बाय द्वारा बना रन अब अलग-अलग गिना जायेगा। इससे पहले नो बॉल पर बने बाय या लेग बाय के रन नो बॉल के रूप में ही गिने जाते थे|
  • ऐसे नहीं होंगे रन आउट: पुराने नियमों के अनुसार अगर किसी बल्लेबाज़ का बैट रन लेने बाद क्रीज़ के अंदर है पर बैट हवा में है तो स्टंप उड़ने पर उन्हें आउट करार दिया जाता था| नए नियमों के अनुसार अब आगे से ऐसा नहीं होगा. अगर बैट स्टंप उड़ने पर हवा में है पर क्रीज़ के अंदर है तो उसे नॉट आउट दिया जायेगा|
  • अब नहीं खैर बद्तमीज़ खिलाडियों की: नए नियमों के अनुसार अगर कोई खिलाड़ी मैदान पर खेल भावना से खिलवाढ़ करता है तो अंपायर उसे रेड कार्ड दिखा कर पूरे खेल के लिए मैदान से बाहर भेज सकता है। यह ज्यादातर स्तर 4 के अपराधों पर लागू होगा|
  • ऐसे रिव्यु नहीं होगा खराब: अगर कोई एलबीडबल्यू का रिव्यु, umpire’s call के रूप में थर्ड अंपायर से वापिस आती है तो इस से रिव्यु लेने वाली टीम का रिव्यु खराब नहीं जायेगा| पुराने नियमों के अनुसार टेस्ट क्रिकेट में पहले 80 ओवर के बाद 2 रिव्यु टीम को मिल जाते थे। लेकिन अब नए नियमों के मुताबिक टीम को सिर्फ 2 डीआरएस ही मिला करेंगे । टी-20 क्रिकेट में भी आईसीसी ने डीआरएस का प्रयोग करने की इजाजत दे दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *