Category Archives: General

टोयोटा ऑटोमोबाइल की सफलता की कहानी | Toyota Motors ki safalta kahani Hindi

Toyota Motors ki safalta kahani in Hindi टोयोटा ऑटोमोबाइल्स कंपनी को 1933 में टोयोडा ऑटोमेटिक लूम वर्क्स के एक विभाजन के रूप में शुरू किया गया था। यह विभाग कीचिरो टोयोडा के नेतृत्व में था। कंपनी 1937 में कंपनी का नाम टोयोडा से टोयोटा रख दिया गया। टोयोटा कंपनी का पहला वाहन 1935 में जारी… Read More »

गुरुनानक जयंती कब क्यों और कैसे मनाई जाती है | Why and How We Celebrate Guru Nanak Jayanti Gurpurab

गुरु नानक देव जी के जन्म दिवस को ही गुरु नानक जयंती के रूप में मनाया जाता है| गुरु नानक देव सिखों के प्रथम गुरु थे| इनका जन्म राइ भोय की तलवंडी (ननकाना साहिब) में हुआ था जो आज-कल पाकिस्तान में है| इनके जन्म-दिवस को प्रकाश उत्स्व भी कहते है| यह कार्तिक पूर्णिमा के शुभ… Read More »

धनतेरस पर यमराज और धन्वंतरि की कथा | Yamraj and Dhanvantri Katha in Hindi

हिन्दू धर्म ग्रंथो के अनुसार कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रोदिशी तिथि के दिन भगवान धन्वंतरि का जन्म हुआ| इस लिए इस तिथि को धनतेरस के नाम से जाना जाता है| यह त्यौहार दिवाली से दो दिन पहले मनाया जाता है| दिवाली से पहले धनतेरस पूजा को बहुत महत्व होता है| इस दिन भगवान धन्वंतरि के… Read More »

धनतेरस की कथा | Dhanteras Katha in Hindi

Dhanteras Katha कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रोयदशी के दिन धनतेरस (Dhanteras) का पर्व बड़ी श्रद्धा और विश्वास के साथ मनाया जाता है| धन्वंतरि के इलावा इस दिन लक्ष्मी माँ और धन के देवता कुबेर जी की पूजा भी की जाती है| इस दिन को मनाने के पीछे धन्वंतरि के जन्म लेने के इलावा और भी… Read More »

धनतेरस क्यों मनाते हैं? जानिए धनतेरस का महत्व | Why We Celebrate Dhanteras in Hindi

धनतेरस क्यों मनाते हैं? Why We Celebrate Dhanteras? कार्तिक माह कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को धन्वंतरि देवता का जन्म हुआ था| इनका जन्म समुन्द्र मंथन से हुआ था| जब इनका जन्म हुआ तो यह अमृत कलश लेकर आए थे| जिसके लिए इतना भव्य समुद्र मंथन किया गया| इसी समुद्र मंथन से माँ लक्ष्मी जी का… Read More »

अहोई अष्टमी व्रत कथा | Ahoi Ashtami Vrat Katha in Hindi

अहोई शब्द का अर्थ होता है होनी को अनहोनी बनाना| यह व्रत करवाचौथ के चार दिन बाद मनाया जाता है| यह व्रत केवल संतान वाली महिलाएं ही रख सकती है| यह व्रत बच्चो के सुख के लिए रखा जाता है| इस व्रत को करने से परिवारिक सुख की भी प्राप्ति होती है| इस व्रत में… Read More »

अहोई अष्टमी व्रत की विधि और महत्व | Ahoi Ashtami Vrat vidhi And its Significance in Hindi

अहोई अष्टमी व्रत का महत्व | Ahoi Ashtami Vrat Significance: अहोई अष्टमी व्रत का बहुत महत्व है क्यों कि हर एक उपवास के पीछे एक पुराणिक कथा होती है| जो हमे सीख देती है और हमे धर्म का मार्ग दिखाती है| पश्चाताप का भाव देती है और उनसे बाहर निकलने का मार्ग भी दिखाती है|… Read More »

दिवाली के त्यौहार का ऐतिहासिक महत्व | Historical and Spiritual Significance of Diwali in Hindi

दिवाली रोशनी और प्रकाश का त्यौहार है| आप में से हर कोई अपने आप में एक प्रकाश है| यह त्यौहार पूरे भारत में मनाया जाने वाला त्यौहार है| इस दिन लोग एक दूसरे को शुभ कामनाएं देते है और मिठाइएं बांटते है| दिवाली के समय हम अतीत के सभी दुःख भूल जाते है| पटाखों की… Read More »

दिवाली के सीजन में रखें इन बातों का ध्यान | Safe Diwali Tips In Hindi

दिवाली दीपों और खुशियों का त्यौहार है| इस दिन बच्चो के साथ-साथ बड़ो में भी दिवाली का उत्साह देखने को मिलता है| इस दिन सभी लोग अपनों से मिलकर इस त्यौहार को मनाना चाहते है| दिवाली से पहले ही न जाने कितनी त्यारियो में लग जाते है| जैसे बच्चो के कपड़े की ख़रीददारी, घर की… Read More »

करवा चौथ में कर्वे और सरगी का महत्व | Significance of Sargi in Karva Chauth in Hindi

करवा चौथ स्त्रियो का मुख्य त्यौहार है| यह व्रत सुहागने अपने पति की लम्बी आयु के लिए रखते है| करवा चौथ का व्रत कार्तिक महीने की कृष्णा चतुर्थी को मनाया जाता है| यह शरद पूर्णिमा के बाद आने वाली चौथ होती है| इसी को चतुर्थी कहा जाता है| यह व्रत हर महिला अपने अपने रीती-रिवाजो… Read More »